” गरीबा कि दीपावली ” गरीब मजदूर के शोषण कि कहानी

यूं कोरोनावायरस ने सेठ साहूकारों कि दीवाली फीकी कर दी थी फिर भला दिहाड़ी मजदूरों कि क्या धनतेरस का दिन था कहते हैं इस दिन लक्ष्मी जी का धनाढ्य घर से गरीब घर में पदार्पण होता है या नहीं होता है यह तो आस्था का विषय है या यो कहें कर्म का लेखा जोखा है … Read more

पुलिस इंस्पेक्टर उनकी ईमानदारी दिल को छू गई

बात बहुत पुरानी है उस जमाने में मोबाइल देश में  नये नये आऐ  थे  और  कीमत भी  बहुत  जायदा थी  जो कि  आम नागरिक कि पहुंच से वाहर  था  वह  तो  पैसे वाले अभिजात्य वर्ग के  परिवार के सदस्यों के  हाथों मैं  देखकर आत्म अनुभूति कर  खुशी  जाहिर कर  लेता  था  या फिर  दूसरे अर्थ … Read more